झांसी ट्रेन

झांसी पैसेंजर ट्रेन में फांसी लगाकर मरने बाले के बारे में पुलिस को और भी बहुत कुछ पता चला है

झांसी। रेलवे यार्ड में खड़ी पैसेंजर ट्रेन के कोच में विगत दिवस फांसी पर झूलते मिले युवक के परिजनो ने मृतक की शिनाख्त जय सिंह के रूप में की। आदिवासी जय सिंह के परिजन भी आत्महत्या के कारणों पर अनभिज्ञता जाहिर करते रहे। बताया कि वह दिल्ली में मजदूरी करता है और पहली पत्नी खत्म होने के बाद उसने दूसरी शादी कर ली थी। जिससे एक सात वर्ष का बच्चा है। पुलिस ने परिजनों को ठण्ड देखते हुये कपड़े आदि उपलब्ध कराये। साथ में ठहरने व खाने-पानी का सामान देते हुये किराये के लिये एक हजार रुपये दिये।

रेलवे यार्ड में खड़ी पैंसेजर ट्रेन के कोच नम्बर 11584 में गुरुवार सुबह एक करीब 45 वर्षीय युवक का शव फांसी पर लटका मिला था। युवक के पास से दिल्ली से बैतूल जाने का टिकट मिला था। साथ ही उसके पास से एक पर्ची पर लिखे मोबाइल नम्बर पर सम्पर्क करने पर बताया गया कि वह दिल्ली पुलिस का है। पुलिस ने बताया कि जय सिंह का एक्सीडेंट हुआ था, जिसका मुकदमा चल रहा है। आधार कार्ड लेने के लिये वह बैतूल गया है। जय सिंह 10 वर्ष की उम्र में घर छोड़कर भाग गया था। कुछ दिनों बाद वापस लौटने पर उसकी शादी करा दी। थाना प्रभारी अजीत कुमार सिंह ने परिजनों की हालत देखते हुये बच्चों व महिलाओं को गर्म कपड़े उपलब्ध कराते हुये सभी को खाना व ठहरने की व्यवस्था कराई साथ कि किराया न होने पर परिजनों को एक हजार रुपये की मद्द की। थाना प्रभारी ने बताया कि आत्महत्या के कारणों पर परिजन कुछ ठोस जानकारी नहीं दे सके। बताया कि जय सिंह पहले भी घर से भाग चुका है। शव का पोस्टमार्टम कराकर परिजनों के सुपुर्द कर दिया है।

👇 अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें 👇

Share on facebook
Share on google
Share on twitter
Share on whatsapp

ये खबर आपको कैसी लगी? नीचे कॉमेंट बॉक्स में जाकर जरूर बताएं.

झांसी समाचार

ललितपुर समाचार