ललितपुर DM ने नागरिकता कानून पर लगाई क्लास

ललितपुर न्यूज : बृहस्पतिवार को जिलाधिकारी योगेश कुमार शुक्ल की अध्यक्षता में जनपद की कानून एवं शांति व्यवस्था (पीस कमेटी) की बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित हुई। जिसमें जिलाधिकारी ने मुस्लिम समुदाय के धर्मगुरुओं व संभ्रांत नागरिकों के साथ नागरिकता संशोधन बिल के संबंध में फैल रही भ्रांतियों को लेकर विस्तृत चर्चा की।

बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि नागरिकता संशोधन बिल से भारत के नागरिकों का कोई संबंध नहीं है। बंटवारे के वक्त अंग्रेजी शासन ने भारत में हिन्दु-मुस्लिम समुदाय के लोगों के बीच आपसी सामंजस्य, सद्भाव को लेकर भेदभाव का नकारात्मक दंश उत्पन्न किया था। इसका प्रभाव हम लोगों को आज तक झेल रहे हैं। *हमारे देश में कौमी एकता, साम्प्रदायिक सद्भाव की भावना प्रारंभ से *विद्यमान रही।

नागरिकता संशोधन बिल से बांग्लादेश, पाकिस्तान, अफगानिस्तान समेत आस-पास के देशों से भारत आने वाले हिंदू, सिख, बौद्ध, जैन, पारसी धर्म वाले लोगों को नागरिकता दी जाएगी।

जिलाधिकारी ने नागरिकता संशोधन अधिनियम-2019 के संबंध में बताते हुए कहा कि यह कानून सिर्फ नागरिकता देने के लिए है, किसी की नागरिकता छीनने का अधिकार इस कानून में नहीं है। भारत के अल्पसंख्यकों विशेषकर मुसलमानों का इससे कोई अहित नहीं है। देश के नागरिकों की नागरिकता पर इससे कोई प्रभाव नहीं पड़ेगा। यह कानून किसी भी भारतीय हिन्दू, मुसलमान आदि को प्रभावित नहीं करेगा। बैठक में पुलिस अधीक्षक कैप्टन एमएम बेग ने कहा कि हम सभी में सामुदायिक भिन्नता पूर्ण रूप से समाप्त हो चुकी है। जिसके फलस्वरूप प्रदेश में शान्ति व्यवस्था व सद्भाव के मामले में जनपद ललितपुर का महत्वपूर्ण स्थान है।

इसका पूर्ण श्रेय ललितपुर के निवासियों को जाता है। जनपद में व्याप्त शान्तिपूर्ण माहौल के लिए जनपदवासी धन्यवाद के पात्र हैं। उन्होंने कहा कि आज की इस बैठक में उपस्थित मुस्लिम व अन्य समुदाय के लोग अपने आस पास के लोगों को जागरुक करते हुए नागरिकता संशोधन बिल के बारे में फैल रही किसी भी प्रकार की नकारात्मक भ्रान्ति से दूर रहने का आग्रह करें।

👇 अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें 👇

Share on facebook
Share on google
Share on twitter
Share on whatsapp

ये खबर आपको कैसी लगी? नीचे कॉमेंट बॉक्स में जाकर जरूर बताएं.

झांसी समाचार

ललितपुर समाचार