शेल्टर होम

अब ललितपुर में जल्द बनेगा शेल्टर होम, DM ने दी अनुमति

रात के समय दूर घर जाने के साधन न मिलने पर मुसा फिरों को घबराने व इधर उधर भटकने की जरूरत नहीं है। वह अत्याधुनिक सुविधाओं वाले भवन में सुरक्षित ढंग से अपनी रात गुजार सकते हैं। नगर पालिका परिषद दायरे में जिला शिक्षण एवं प्रशिक्षण संस्थान के ठीक सामने खाली पड़ी भूमि पर जल्द ही शेल्टर होम का निर्माण कार्य प्रारंभ होने वाला है।

तमाम बार काम निपटाते-निपटाते रात हो जाती है और घर लौटते के लिए संसाधन नहीं मिलते। इन परिस्थियों में धनाभाव होने पर हालात जटित हो जाते हैं। गैर जनपदों से आने वाले मुसाफिरों के समक्ष आए दिन इस तरह की स्थिति बनती रहती है। उनके लिए होटलों में रहना और भोजन करना संभव नहीं रहता। इसलिए वह रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड व फुटपाथ पर किसी तरह रात गुजारने के बाद अपने गंतव्य को रवाना होते हैं। इस तरह रात बिताते समय सोने का तो सवाल ही पैदा नहीं होता। मुश्किल के मारे यह लोग रतजगा करते हैं। ऐसे लोगों को बेहतर कमरे में रातभर का आसरा, चाय नास्ता व भोजन आदि देने के लिए शासन ने नगर पालिका परिषद दायरे में शेल्टर होम बनाने का निर्णय लिया है।

राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के तहत एक सौ व्यक्तिों की क्षमता वाले शेल्टर होम के लिए जिला शिक्षण एवं प्रशिक्षण संस्थान के ठीक सामने भूमि चिह्नित की गई थी। खसरा संख्या 3730/1 के रकबा 1240 वर्ग मीटर भूमि के लिए सेना ने अनापत्ति जारी कर दी। इसके साथ ही जिलाधिकारी ने उक्त भूमि पर शेल्टर होम बनाने के लिए अनुमति दे दी। अब डूडा अफसर इसका निर्माण कार्य प्रारंभ कराने की औपचारिकताओं में जुट गए हैं। परियोजना अधिकारी डूडा राजीव शुक्ल ने बताया कि एक सौ व्यक्तियों की क्षमता वाला शेलटर होम दो मंजिला होगा। पूर्व निर्धारित डिजाइन के अनुसार इसमें कई हाल, किचेन, कमरे, मनोरंजन कक्ष, भोजन कक्ष शौचालय, स्नानागृह आदि बनाया जाएगा। बाहर से आने वाले लोग यहां सुविधाजनक ढंग से रात बिताकर अपने गंतव्य को जाएंगे। यहां सुविधाएं मुफ्त में उपलब्ध होंगी।

यह होगी शेल्टर होम की विशेषता

तीन करोड़ रुपये से होगा निर्माण कार्य ललितपुर। राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन के तहत प्रस्तावित इस शेल्टर होम को बनाने के लिए शासन ने 2,97,00,000 रुपये धनराशि निर्धारित कर रखी है। नगर पालिका परिषद दायरे में इसको मूर्त रूप देने के लिए 1,80,00,000 रुपये काफी पहले ही जारी कर दिए गए थे। इस धन से विभाग निर्माण कार्य प्रारंभ कराएगा। आस पास होंगे रेलवे स्टेशन, बस स्टैंड ललितपुर। कलेक्ट्रेट और पुलिस अधीक्षक आवास से कुछ दूर शेल्टर होम सुरक्षित होगा। रेलवे स्टेशन व बस स्टैंड आस पास होंगे। सुरक्षित व आसानी के साथ यहां मुसाफिर किसी भी समय आ जा सकेंगे।

👇 अपने दोस्तों के साथ शेयर करना न भूलें 👇

Share on facebook
Share on google
Share on twitter
Share on whatsapp

ये खबर आपको कैसी लगी? नीचे कॉमेंट बॉक्स में जाकर जरूर बताएं.

झांसी समाचार

ललितपुर समाचार